PM मोदी को मिलेगा एक और अंतरराष्ट्रीय सम्मान, वैश्विक उर्जा व पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार से होंगे सम्मानित – AB2 News

AB2 News

सच के साथ सच की आवाज

PM मोदी को मिलेगा एक और अंतरराष्ट्रीय सम्मान, वैश्विक उर्जा व पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार से होंगे सम्मानित

😊 Please Share This News 😊
17/01/2022 2:53 AM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक और अंतरराष्ट्रीय सम्मान मिलने जा रहा है। अगले हफ्ते उन्हें एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा सम्मेलन के दौरान सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। ऊर्जा और पर्यावरण में स्थिरता के प्रति प्रतिबद्धता के लिए सम्मान मिलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक और अंतरराष्ट्रीय सम्मान मिलने जा रहा है। अगले हफ्ते उन्हें एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा सम्मेलन के दौरान सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार (CERAWeek global energy and environment leadership award) से सम्मानित किया जाएगा। प्रधानमंत्री को ऊर्जा और पर्यावरण में स्थिरता के प्रति प्रतिबद्धता के लिए सम्मान मिलेगा। विश्व का प्रमुख ऊर्जा सम्मेलन एक से पांच मार्च के बीच वर्चुअली आयोजित होगा। यह इसका 39 वां संस्करण होगा। पहली बार इसका पूरी तरह से वर्चुअल आयोजन होगा। प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम में मुख्य भाषण भी देंगे। कार्यक्रम के आयोजक आइएचएस मार्किट ने इसकी जानकारी दी है।

सम्मेलन में प्रमुख वक्ताओं में जलवायु के लिए अमेरिकी विशेष राष्ट्रपति दूत जॉन केरी, बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष और ब्रेकथ्रू एनर्जी के संस्थापक बिल गेट्स और सऊदी अरामको के सीईओ अमीन नासर शामिल हैं। आइएचएस मार्किट के वाइस चेयरमैन और कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष डेनियल येरगिन ने कहा कि हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की भूमिका को लेकर प्रधानमंत्री मोदी के दृष्टिकोण को देख रहे हैं। देश और दुनिया के उर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए सतत विकास में भारत के नेतृत्व का विस्तार की प्रतिबद्धता के लिए उन्हें सेरावीक ग्लोबल एनर्जी एंड एनवायरनमेंट लीडरशिप अवार्ड से सम्मानित करने को लेकर प्रसन्न हैं।

डेनियल येरगिन ने आगे कहा कि भारत आर्थिक विकास, गरीबी कम करने और एक नए ऊर्जा भविष्य की दिशा में अपना रास्ता बनाने में वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण का केंद्र बनकर उभरा है। बता दें कि इस वार्षिक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में ऊर्जा उद्योग से जुड़े विशेषज्ञ, सरकारी अधिकारी और नीति निर्माता समेत अन्य लोग शामिल होते हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now